सर्वनाम किसे कहते हैं | सर्वनाम के कितने भेद होते हैं

सर्वनाम किसे कहते हैं, संज्ञा के स्थान पर जिन शब्दों का प्रयोग किया जाता है, उन्हें सर्वनाम कहते है| जैसे – मै, हम, तू, तुम, वह, वे आदि| सीता एक …

अधिक पढ़े

लिंग किसे कहते हैं लिंग कितने प्रकार के होते हैं

लिंग किसे कहते हैं, संसार में हम दो प्रकार की जातियाँ या पदार्थ देखते है| एक तो वे जो जीवधारी है, जैसे – स्त्री, पुरुष, घोडा, कुता, कबूतर, साँप आदि …

अधिक पढ़े

संज्ञा किसे कहते हैं | संज्ञा के कितने भेद होते हैं?

संज्ञा किसे कहते हैं संज्ञा किसे कहते हैं, इस संसार में प्रत्येक वस्तु का कोई न कोई नाम अवश्य होता है| संसार में कोई भी पुरुष, स्थान, गुण, स्वाभाव, ऐसा …

अधिक पढ़े

व्याकरण किसे कहते हैं,

व्याकरण किसे कहते हैं, शुद्ध भाषा का बहुत महत्व है| यदि भाषा अशुद्ध, दूषित और विकृत हो तो उसके अर्थ का अनर्थ हो जाता है| इसलिए भाषा को शुद्ध बनाए …

अधिक पढ़े

वाक्य किसे कहते हैं | वाक्य के कितने भेद है

वाक्य किसे कहते हैं, वाक्य भाषा की सबसे छोटी सार्थक इकाई है| जो मनुष्य अपने विचारो को वाक्य में ही व्यक्त करता है| वाक्य से वक्ता या लेखक का पूरा …

अधिक पढ़े

मुहावरा क्या है परिभाषा एवं उदाहरण सहित लिखिए

मुहावरा की परिभाषा मुहावरा की परिभाषा, जब कोई वाक्यांश सामान्य अर्थ को छोड़कर किसी विशेष अर्थ को प्रकट करता है. तो उसे मुहावरा कहा जाता है| या ऐसा वाक्यांश जो …

अधिक पढ़े

समास किसे कहते हैं | समास कितने प्रकार के होते हैं

समास किसे कहते हैं, समास संस्कृत का शब्द है जिसका अर्थ है – संक्षेपीकारण या छोटा करना|  जैसे – ‘राजा का पुत्र’ को संक्षित करके ‘राजपुत्र’ शब्द बनाया जाता है| …

अधिक पढ़े

अविकारी शब्द किसे कहते हैं उदाहरण सहित लिखिए

अविकारी शब्द किसे कहते हैं अविकारी शब्द किसे कहते हैं, जिन शब्दों के रूप में लिंग, वचन, या कारक के कारण कोई परिवर्तन नहीं होता उन्हें अव्यय या अविकारी शब्द …

अधिक पढ़े