लातेहार जिला के बारे मे latehar jila ke bare mein

लातेहार जिला के बारे मे latehar jila ke bare mein

आज हम लातेहर जिला के बारे के बारे में बात करेगे, लातेहार जिला राँची-डालटनगंज रोड मे स्थित है!यह जिला को छोटानागपुर की रानी भी कहा जाता है, क्यूंकि इस जगह पर झारखण्ड राज्य मे सबसे अधिक ठंडा यही पर रहता है, इसकी वास्तविक दुरी हमारे झारखण्ड की राजधनी रॉची से करीब 100 किलोमीटर की दुरी मे है, इस जगह में प्रकृति, सुन्दरता, जल जंगल उत्तपाद तथा खनिज़ और चारों तरफ घने जंगलो से घिरा हुआ है, इसलिए इन जगह को प्राकृति के सुंदरता के लिए प्रसिद्ध जगह मना जाता है, झारखण्ड सरकार के अधिसूचना के तहत 04.04.2001 को अनुमंडल का दर्जा दिया गया!तब से यह झारखण्ड मे एक जिले के तौर पर एक नई पहचान मिली! लातेहार जिला झारखण्ड राज्य के पलामू प्रमंडल मे स्थित है! ये जिला पर्यटन तथा प्राकृतिक का एक सौंदर्य जगह है! जहाँ पर छोटे-बड़े पहाड़ है, जो हरियाली का नज़ारा पेश करती है!

बिजली उत्पादन कैसे होता है जानने के लिए यहाँ क्लिक करे

लातेहार जिला कब बना latehar jila kab bana

यह जिला को 4 अप्रैल 2001 को बनाया गया था! इस से पहले यह जिला पलामू मे आता था, ये जिला एक ऐसा जगह है. जो पूर्वी भारत के झारखण्ड मे स्थित है.इस जिला का कुल भौगोलिक क्षेत्रफल लगभग 3622.50 वर्ग किलोमीटर है, लेकिन अधिकतर क्षेत्र भू-जंगल, पेड़-पौधे पाये जाने वाला जगह है, इस जिला मे उधोग की भारी कमी का महसूस होता है, इसलिए यहाँ के निवासी जंगल से फल-फूल तथा लकड़ी तोड़कर या फिर पेड़ के पत्ते से अलग-अलग कलाकृति का निर्माण करती है, जैसे बांस की टोकरी बनाना और अपने नजदीकी बाज़ार मे जा कर बेचा करती है, इस जगह को आदिवासी बहुल क्षेत्र मना गया है, यहाँ पर अधिकतर अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाति की संख्या अधिक पाये जाते है,

जिला का चौहदी क्या है?और लातेहार जिला क्‍यों प्रसिद्ध है?
Latehar jila ka chohdi keya hai or latehar jila keyo prasidh hai

इस जिला का चौहदी लोहरदगा, गुमला,पलामू और चतरा से घिरा हुआ जिला है! ये जिला ऐसे भी घने जंगलो का इलाका का है, इस जगह मे खनिज़ सम्पदा भारी मात्रा मे पाई जाती है! यहाँ की लेटेराइट, बॉक्ससाइट, कोयले और डोलोमाइट की खदाने पूरे विश्व मे प्रसिद्ध है!एक तरफ से लातेहार की अर्थव्यवथा को पकड़ के रखा है! क्यूंकि यहाँ पर विशाल खदाने मौजूद है!इसलिए यहाँ के लोग अपना दैनिक जीवन को चलाने के लिए इस खदान पर एक मजदूर की तरह काम करते है! जिस से अपना रोजी-रोटी चला सके, लातेहार जिला एक साहसिक पर्यटन स्थल के रूप मे एक स्वर्ग है!चारों तरफ हरा-भरा हरियाली पहाड़ ही पहाड़ देखने को मिलता है!

जिला मे कितना प्रखंड है latehar jila me kitna prakhand hai

जिला मे 2 अनुमंडल है

1 लातेहार

2. महुआडाड

और साथ में 9 प्रखंड भी आते है,ये प्रखंड इस प्रकार से है :-

1 बरवाडीह

2 मनिका

3 बलूमाथ

4 चंदवा

5 लातेहार

6 गारू

7 बारीयतु

8 हैरहंज

9 महुआडाड

लातेहार जिला मे कल कितना पंचायत और गाँव है?

जिला मे कुल 115 ग्राम पंचायत है और साथ मे 772 कुल गाँव की संख्या है तथा 12 पुलिस स्टेशन भी है!

लातेहार जिला मे कितने विधानसभा है?

यह जिला जब से पलामू जिला से अलग हआ है, तब से यहाँ 2 निर्वाचित विधानसभा बनाया गया जिसका नाम है!

लातेहार

मनिका

स्वास्थ सेवा medical sewa

शहर मे एक अति बहुमूल्य अस्पताल है जो निशुल्क सेवा लोगो को प्रदान करती है।इस अस्पताल मे पहले इलाज करने के लिए बहुत कमी था!क्यूंकि पहले यहाँ पर बच्चों के इलाज के लिए स्पसेल न्यूबोर्न केयर यूनिट यानि (SNCU)वर्ड नहीं था. इसलिए इस अस्पताल मे इलाज के लिए कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता था!|इसलिए यहाँ के लोग राँची जैसे शहर मे इलाज के लिए जाना पडता था!पिछले 3 वर्षों से लातेहार मे स्वास्थ्य सेवा की तस्वीर ही बदल गई है!इस लातेहार सदर अस्पताल मे SNCU WARD मे 6 TREND Nurses है, तथा एक स्पेशल DOCTER भी उपस्थित रहते है! इस अस्पताल में पहले की अपेक्षा बहुत कुछ सुधार हुआ है! और यहाँ के लोगो को बेहतर इलाज की सुविधा  मिलने के कारण अस्पताल के प्रति लोगो का विश्वास कायम है!

शिक्षण संस्थान

यहाँ पर नेतरहट आवासीय विधालय जैसे बहत ही बिख्यात स्कलों मे से एक प्रसिद्ध सकल है, जो पूरे भारत भार मे अपना नाम को रोशन करता है!इस नेतरहट आवासीय विद्यालय का स्थापना 15 नवंबर 1954 को किया गया था! यह आवासीय विद्यालय झारखण्ड मे शिक्षा जगत मे विशिष्ट उपलब्धियाँ हासिल किया है! यह आवासीय विद्यालय 780 एकड़ जगह मे बना है, लातेहार शहर का एक उच्च कृष्ठ विधालय मे से एक है, इस स्कूल से प्रत्येक साल STATE TOPPER विधार्थी निकलते है! नेतरहट आवासीय विधालय मे कक्षा 6-12 के कक्षाएं संचालित कि जाती है!इस विधालय मे ADMISSION लेने के लिए एक राज्य स्तरीय ENTRANCE EXAM पास करना पड़ता है! तब जा के इस नेतरहट आवासीय विद्यालय मे कक्षा 6 मे ADMISSION मिलता है, यह ENTRANCE EXAM राज्य सरकार प्रत्येक साल आयोजित करती है!इसके बाद MERIT LIST के आधार पर ADMISSION होता है.

नेतरहट मे प्रवेश Netarhat me pravesh

इस स्कूल मे प्रवेश होने के लिए इच्छुक विधार्थी नेतरहट आवासीय विद्यालय के OFFICIAL WEBSITE में जा के ONLINE FORM भर सकते है! ONLINE FORM FILLUP होने के बाद राज्य सरकार एक ENTRANCE EXAM लेती है! जो कि 2 पाली मे आयोजित कि जाती है, जो प्रथम पाली की परीक्षा वस्तुनिष्ट (OBJECTIVE TYPE) होती है!और फिर सेकंड पाली का परीक्षा बिषयनिष्ट (SUBJECTIVE Type) रहता है,इस परीक्षा का विषय हिंदी, मानसिक योग्यता, विज्ञान, सामान्य ज्ञान, और गणित के 20-20 प्रश्न होते है!फिर वही परीक्षा सेकंड पाली मे SUBJECTIVE PAPER हिंदी, गणित, विज्ञान, और सामान्य ज्ञान के 25 -25 प्रश्न रहते है! OBJECTIVE PAPER मे QUALIFYING बच्चों की कॉपी SHORTLIST की जाती है, तब जा के SUBJECTIVE PAPER का कॉपी जाँच किया जाता है!

आवेदन के लिए जरुरी पात्रता :-

1 झारखण्ड राज्य का मूल निवासी होना अनिवार्य है

2 स्थानीय निवासी प्रमाण पत्र तथा जाति प्रमाण पत्र अंचल अधिकारी याँ अनुमंडल पदाधिकारी का निर्गत होना चाहिए!

3 झारखण्ड राज्य के किसी सरकारी मान्यता प्राप्त विद्यालय से पाँचवी कक्षा पास किया हो!

4 परीक्षा पास होने के उपरांत अपने ही विद्यालय के HEADMASTER से हस्तक्षरित कक्षा पाँच का पास किया हुआ प्रमाण पत्र आवश्यक हो!

नोट :- इस नेतरहट आवासीय विद्यालय का official website www.netarhatvidyalaya.com

पर्यटन स्थल lather ka prayatan jagah

बेतला रास्ट्रीय उद्यान Betla rastriya udhan

छोटानागपुर की पठार लातेहार जिला के झारखण्ड राज्य मे स्थित यह रास्ट्रीय बेतला उद्यान पाक वन्य जीव के लिए प्रसिद्ध है!बेतला रास्ट्रीय उद्यान मे बाइसन, हाथी, शेर, तेंदुवा, और चित्तल आदि जानवर पाये जाते है!उद्यान मे वन्य जीवो को देखने के लिए भिन्‍न-भिन्‍न जगह से यहाँ लोग देखने के लिए आतेहै! इस पार्क के अंदर spotlight हाथी की सवारी भी की जाती है!बेतला रास्ट्रीय उद्यान मे ज्यादातार इलाका पहड़ी क्षेत्र में विस्तत है! इस पार्क का कल क्षेत्रफल 226.33 वर्ग किलोमीटर मे है!यह उद्यान मई-जन के माह मे घूमने मे बहत ही अच्छा आनंद आता हैं!क्यंकि यहाँ घने जंगलो से घिरा हआ! बेतला रास्ट्रीय उदयान दयान पार्क मे मजा लेने के लिए बड़ी सारे लोग घूमने आते है!

टट्टापानी tattapani:-

ट॒टापानी जगह लातेहार से करीब 8 किलोमीटर की दर री मे स्थित है! टट्टापानी गर्म spring पानी के लिए प्रसिद्ध है!जो यह पानी सकरी नदी से आती है!यह गम पानी कई अनेक अलग-अलग से मिलकर टट्टापानी मे आती है!इस टट्‌टापानी का मजा यहाँ के स्थानीय लोग और बाहर से आने वाले tourist मजा लेते है!

इन्द्ररा फॉल (indra fall)

यह इन्द्ररा फॉल तुबेद गाँव के लातेहार जिला मे स्थित है! इस जगह के चारों और घने जंगलो से घिरा हुआ है।इस जगह मे तुबेद डैम भी है! यह तबेद मे स्थित इन्द्ररा फॉल के अलग-बगल कई छोटे-बड़े पहाड़ भी पाये जाते है!जो वातावरण को शुद्ध तथा Balance करके रखता है!इन्द्ररा फॉल में मानसून का मौसम मे सही मायने मे बहुत मजा आता है!