जहरीला साँप जिसके काटने पर मौत तय है

Contents

परिचय

हम आज साँप की ऐसी प्रजाति के बारे में बताने जा रहे है. जो बहुत अधिक जहरीला है.और दूसरा ऐसे साँप जो बिलकुल भी जहरीला नही है. विश्व में 3000 से अधिक साँप की प्रजाति है. लेकिन उनमे  से 500 साँप ही जहरीला है.कोई कम तो कोई अधिक जहरीला है.साँप पृथ्वी का  एक ऐसे प्राणी है.जो रेंगता हुआ एक स्थान से दुसरे स्थान तक जाता है.रेंगता हुआ चलने वाला और भी प्राणी है.लेकिन हम यहाँ साँप के बारे में ही details से व्याख्या करेंगे.इसलिए इस टॉपिक को पूरा जरुर पढ़े ताकि कोई भी जानकारी miss ना हो.

जहरीला सांप के बारे में

साँप भारत के लगभग सभी राज्यों में पाया जाता है.ये अधिकांश खेत खलिहान में या जंगली क्षेत्र में अधिक देखने को मिलेगा.लेकिन कभी कभी हमारे घरो के आसपास भी ये प्राणी पहंच जाते है.ये अक्सर चूहा ,मेढक ,छिपकली आदि का शिकार करते करते घरो तक पहंच जाते है.वैसे साँप का अपना घर नही होता है.लेकिन दुसरो के बनाये हुए घर को कब्ज़ा करना इसकी फितरत है.जहरीला होने के कारण कोई भी  जीव जंतु उसे नही उलझना चाहेगा .

ये भी पढ़े  Jbvnl क्या है 

जहरीला सांप की पहचान 

जहरीला सांप के बारे में जानकारी भारत में अनेक तरह के साँप है.जिसमे कुछ ही ऐसा साँप है. जो जहरीले होते है.जो जहरीले होते है.उनकी सबसे बड़ी पहचान उसकी पूंछ और उसका रंग होता है.जिस साँप की पूंछ कम नुकीला और रंग ज्यादा गहरा होता वो जहरीला साँप होता है.और जिस साँप का पूंछ जादा नुकीला होता है.वो साँप जहरीला नही होता है.लेकिन काटने पर उस जगह पे संक्रमण जरुर होता है.जहरीला साँप के मुंह के उपरी हिस्सा में विष की थैली  होती है.और वो सीधे दांतों के साथ जुड़ा हुआ रहता है.और दांत भी खोकले आकार का होता है.जब भी किसी साँप आदमी को काटता है.तो उसी खोकले दांतों द्वारा विष आदमी के शारीर के अन्दर चला जाता है.जिसके चलती आदमी का सही समय में इलाज ना होने से जान भी जा सकता है.

भारत का सबसे जहरीला सर्प

कमान करैत(COMMON KRAIT)

भारत में अगर कोई साँप सबसे जादा जहरीला है.तो वो है.करैत(COMMON KRAIT) जो भारत में सबसे जहरीला सांप है.और यह भारत के जंगली भागो में अधिक पाया जाता है.ये साँप हमेशा रात को बाहर निकलता है.और जब आदमी सोया हुआ रहता है.तब चुपके से चादर में घुस कर काट लेता है.जो आदमी को समझ में भी नही आता है.और सुबह तक उसकी मौत हो जाता है.क्योंकि ये बहुत ही जहरीला होता है.इसके जहर न्यूरोटोक्सिन होते है.इसकी लम्बाई 4 से 5 फीट तक हो सकती है.

comman krait

इंडियन कोबरा(Indian Cobra)

भारत जैसा देश में भी इंडियन कोबरा का दबदबा बहुत जादा है.  क्योंकि इसकी जहर भी काफी जहरीला होता है.ये अक्सर खेत खलिहान में अधिक मिलता है.इसकी पसंदीदा भोजन चूहा, मेढक आदि है.इसकी लम्बाई 5  फीट तक हो सकता है.इसके काटने से इंसान की मौत हो जाती है.ये साँप दिन उजाले में भी बाहर निकलते है.और रात के समय भी, इंडियन कोबरा जादातर अपने फन को फैलाकर काटने की कोशिश करता है.इसका जहर भी न्यूरोटोक्सिन होता है.और इसको गेहुवान साँप के नाम से भी जाना जाता है.

indian cobra

इंडियन  रसाल वाईपर(Indian viper)

रसाल वाईपर भी जहरीला सांपो में शामिल है.क्योंकि इसकी भी जहर काफी जहरीला होता है.इसके काटने से इंसान की मौत जल्दी होती है.ये साँप जादातर रेतीला जगह पर अधिक पाया जाता है.और ये रेगिस्तान जैसे जगह पर और भी इसके प्रजाति पाये जाते है.जितने भी इसके अलग अलग प्रजाति है. वो सभी जहरीले सांपो की list में शामिल है.ग्रामीण इलाको में जो रसाल वाईपर पाया जाता है.वो 2 फीट तक लम्बा हो सकता है.इसके शारीर में गोल गोल आकार का निशान पाया जाता है.ये साँप भी दिन और रात दोनों ही समय देखा जा सकता है.

russel viper

बिना जहरीला साँप क्या धामन सांप जहरीला होता है

बिना जहरीला साँप भारत के लगभग सभी जगह देखने को मिलेगा चाहे ग्रामीण हो शाहर,क्योंकि बरसात के मौसम में ऐसे सांपो का आगमन हमेशा बना रहता है.ये साँप छोटे छोटे कीड़ो को खाने में माहिर है.

1 धामिन साँप(Rat snake)

धामिन साँप जहरीला नही होता है.इसकी लम्बाई 3 से लेकर 6 फीट तक भी हो सकता है.ये साँप पूंछ से हमला करता है.इसकी पूंछ नुकीला होने के चलते इसकी पकड़ भी मजबूत होती है.धामिन साँप चूहा ,चिडया के बच्चे आदि को अपना शिकार बनता है.ये साँप भी मनुष्य के साथ सामना होने पर ये भागने की कोशिश में रहता है.

2 ढोड साँप(water snake)

ढोड साँप बिषैला नही होता है.और ये बारिश के मौसम में जादा निकलता है,छोटे छोटे कीड़ा मकोड़ा ,मेढक आदि को खाने के लिए.इसकी लम्बाई 1 से 2 फीट  तक हो सकता है.दिन और रात और दोनों ही समय इसे देखा जाता है.ये साँप पानी और ज़मीन दोनों ही जगह रहने में सक्षम है.

3 इंडियन पाइथन(अजगर )

अजगर साँप  जहरीला नही होता है.लेकिन ये कुडली मरकर शिकार को मरता है.इसकी लम्बाई 8 से 10 फीट तक हो सकता है.अजगर साँप अपने से भी बड़े जनवर का शिकार कर सकता है.जिसमे मुर्गी ,बकरी ,गाय के बच्चे आदि .इसकी दांत बहुत ही तेज़ धारदार होता है. जो एक बार शिकार को पकड़ लेने के बाद  छुटना मुश्किल है.ये साँप ज्यदातर जंगली इलाका में रहते है.जो जंगली जनवर को आसानी से शिकार बना सके.अजगर बहुत ही कम इंसानी इलाका में पहुचता है.

4 रेड सैंड बोआ

रेड सैंड बोआ जहरीला नही होता है.और इसे कही कही दो मुंह वाला साँप भी कहा जाता है.लोगो में एक भ्रम है.की ये साँप लाखो करोडो में बिकता है.और लोग इसको पकड़ने में लग जाते है.जबकि ऐसा कुछ भी नही है.सैंड बोआ हमेशा रेतीला जगह में अधिक पाया जाता है. इसकी लम्बाई 2 फीट तक हो सकती है.और ये बहुत ही स्थिर रहने वाला साँप है.सैंड बोआ चूहे जैसा छोटे स्तनधारी को अपना भोजन बनाती है.इसकी लाल भूरे रंग से सुस्त पिली रंग तक होते है.

5 इंडियन वुल्फ snake (भेड़िया साँप)

भेड़िया साँप(Indian wolf snake) जहरीला होता है.लेकिन डरने की कोई जरुरत नही है.ये जहर अपने शिकार को मरने के लिए है.इसका जहर इन्सान पर असर नही करता है. केवल थोडा सा इन्फेक्शन होता है. काटने वाले जगह पर, लेकिन इससे इन्सान की मौत नही होती है.यह यु कहे बहुत कम जहरीला होता है.ये साँप दिवार पर चढ़ने में बहुत तेज़ है.इंडियन वुल्फ snake 1 फीट  से 3 फीट  तक की लम्बाई में हो सकता है.और इसका रंग काले ,लाल भूरे या गहरे भूरे रंग के धब्बे इसके शारीर में होते है.ये साँप ज्यदातर रात को ही सक्रिय रहता है.लेकिन इसे दिन में भी देखा जा सकता है.ऐसे साँप बरसात के मौसम में अधिक देखने को मिलता है.जो छोटी मछली ,छोटे मेढक ,चूहा आदि को अपना भोजन बनता है.

बिना जहरीला साँप को कैसे पहचाने

बिना जहरीला साँप को पहचाने का सबसे आसन तरीका उसका शारीर का रंग हल्का गहरा रहेगा और उसी पूंछ नुकीली आकार का रहेगा.

 दुनिया का सबसे  10 सबसे जहरीला सांप

किंग कोबरा(King cobra)

दुनिया का सबसे लम्बा जहरीला साँप है.जिसका विष न्यूरोटोक्सिन,सायटोटोक्सिन होते है.एक बार काटने पर लगभग 400ml तक जहर छोड़ सकता है.जिससे 30 मिनट के भीतर इंसान की मौत हो सकती है.इसका जहर का मात्रा अधिक होने से एक बार 2 से 3 हाथी को मौत की नींद सुला सकता है.किंग कोबरा की लम्बाई 18 फीट तक हो सकता है.और कोबरा प्रजाति से थोडा अलग होता है.भारत में इस साँप को नागराज के नाम से जाना जाता है.जो दक्षिण एशिया के जंगल में अधिक पाया जाता है.भारत में भी इसे कई इलाको में देखा गया है.
जहरीला साँप

ब्लैक मम्बा(Black mamba)

अफ्रीका में दहशत फैलाने वाला दुनिया का सबसे खतरनाक जहरीला सांप  जिसके काटने से 10 मिनट के अन्दर अगर एंटीवेनाम नही मिलता है.तो 14 मिनट के अंदर इंसान की मौत तय है.ये एक बार काटने पर 100ml से लेकर 200ml तक जहर छोड़ सकता है.किंग कोबरा के बाद दूसरा सबसे जहरीला साँप है.इसका जहर भी न्यूरोटोक्सिन होते है.और ये  9 फीट से लेकर 10 फीट तक लम्बा होता है.black मम्बा ज़मीन और पेड़ दोनों जगह में रह सकते है.लेकिन इसकी जो स्पीड है वो 15km/h की चाल से आगे बढ़ सकता है.इसकी एक खास गुण, ये साँप अपनी गर्दन को 1 फीट से भी अधिक उठा के चलने में सक्षम है.जो वर्ल्ड का सबसे जहरीला सांप है.

बेलचर सी साँप (Belchar sea snake)

पानी वाला सांप जहरीला होता है.यानी समुद्र का साँप सबसे जहरीला साँप है.जिसका जहर किंग कोबरा से भी कई गुना अधिक पाया जाता है.बेलचर सी snake किंग कोबरा की तरह जादा आक्रामक नही होते है.इसलिए इस साँप से उन्ही लोगो को खतरा होता है.जो मछली पकड़ने का काम करता हो.इस साँप का काटना दर्दरहित होता है.जो सही समय पर पता नही चल पता है.जिसके चलते आदमी की मौत हो जाती है.समुद्री साँप शर्मीले स्वाभाव के होते है.और ये इंसानों से दूर रहना पसंद करते है.लेकिन वैज्ञानिक का कहना है.की इस साँप से जितना हो सके दूर रहने की कोशिश करे.समुद्री साँप जादातर हिन्द महासागर और प्रशांत महासागर में अधिक देखने को मिलता है.इसकी पूंछ मछली की तरह चपटी होने के चलते ये आसानी से समुद्र में रह भी सकता और तैर भी सकता है.

रसाल वाईपर(Russal viper)

एशिया महादेश का बहुत ही जहरीला साँप है.इसका रंग अजगर साँप से काफी मिलता जुलता है.इसकी जहर में भी न्यूरोटोक्सिस पाया जाता है.जिसके काटने से खून का थका बनना.किडनी फेल जैसे समस्या होती है.ये साँप जहाँ काटता है.उस जगह का मंश्पेशी सड़ने लगता है.इसलिए इसको काफी खतरनाक मना जाता है.रसाल वाईपर एक बार काटने पर लगभग 100 से 200ml तक जहर छोड़ सकता है.इसकी लम्बाई 2 फीट तक हो सकता है.ये साँप दुनिया के लगभग सभी देशो में इसकी अलग अलग प्रजाति पाया जाता है और भारत में भी ये साँप पाया जाता है.

russel viper

टाइगर साँप (Tiger snake)

ऑस्ट्रेलिया के दक्षिण भाग में पाये जाने वाले सबसे जहरीला साँप है.इसकी जहर भी न्यूरोटोक्सिस है.ये साँप ज़मीन पर ही रहते है.लेकिन पानी में बड़ी आसानी से तैरता है.लेकिन आज के समय में टाइगर snake के काटने से होने वाली मौते कम हुई है.क्योंकि इसकी तोड़ यानी एंटीवेनाम अभी मौजूद है.

सॉ-स्केल्ड वाईपर (sa-scaled-viper)

एशिया और भारत के कुछ हिस्सों में पाये जाने वाले जहरीला वाईपर प्रजाति के चौथा सबसे छोटा प्रजाति है.इसका जहर भी न्यूरोटोक्सिस होता है.जो एक बार काटने पर 12ml तक जहर छोड़ सकता है.जो एक व्यस्क आदमी के लिए 5ml होना चाहिए .किसी भी व्यक्ति को मौत की नींद सुलाने के लिए,  इस साँप के काटने से अधिकांश मौते होती है.मगर इस साँप के जहर से बहुत सारे एंटीवेनाम भी तैयार होता है.ये साँप 2 फीट तक लम्बा हो सकता है.

बूमस्लैंग साँप(Boomslang snake)

सहारा अफ्रीका का जहरीला साँप है.इसका जहर भी बहुत शक्तिशाली होता है.इसकी जहर में हिमोटोक्सिन होता है .और ये 8ml तक हो सकता है.जो मांसपेशी और मस्तिष्क जैसे उतक में रक्तस्त्राव होने का कारण बन सकता है.क्योंकि इसकी जहर धीमा गति से असर करता है.और इसके काटने पर तुरंत कोई भी लक्षण नही दिखता है. लक्षण दिखने के लिए कई घंटे लगते है. ये साँप 6 फीट तक लम्बा हो  सकता है.

इनलैंड ताईपन(Inland taipan)

ऑस्ट्रेलिया के मध्य पूर्व में पाये जाने वाले जहरीला साँप है.जो बहुत जहरीला,फुर्तीला और सटीक हमला कर सकता है.इसके काटने से लगभग 100 लोगो की जाने जा सकती है.ये एक बार काटने पर लगभग 110ml तक का जहर छोड़ सकता है.इनलैंड ताईपन में प्रीसानेप्टिक न्यूरोटोक्सिन जहर होते है.और इसकी लम्बाई 8 फीट तक हो सकता है.इसका रंग मौसम के अनुसार बदलता है.जैसे गर्मी के मौसम में इसका जैतून रंग और सर्दी में भूरे रंग का दिखता है.

फेर-डी-लांस(fer-di-lance)

कोस्टा रिका का सबसे खतरनाक साँप है.और ये अफ्रीका ,अमेरिका में भी पाया जाता है.इसके काटने वाली जगह पर सुजन मांसपेशी का गलना आदि शामिल है.इसका जहर बहुत तेज़ होता है.जो काटने पर 300ml से 350ml तक जहर छोड़ सकता है.और इसकी लम्बाई 8 फीट तक हो सकता है.लेकिन ये साँप इंसान से दूर और शान्त रहना बेहतर समझता है.

बेंडेड करैत(Banded krait)

दक्षिण एशिया और दक्षिण चीन करैत की सबसे बड़ी प्रजाति है.और ये भारत के उपमहादीप में भी पाया जाता है.इसका जहर भी न्यूरोटोक्सिन होते है.एक बार काटने में 20ml से लेकर 124ml तक जहर छोड़ सकता है.जिसमे उलटी ,पेट दर्द ,चक्कर आना शामिल है.बेंडेड करैत आम तोर शर्मीले और शांत स्वाभाव के होते है.लेकिन जब इसे परेशान किया जाता तभी काटता है.ये साँप दिन को कम लेकिन रात को जादा निकलते है.जिसके चलते रात को इस साँप से खतरा जादा रहता है. इसकी लम्बाई 8 फिट तक हो सकता है.
banded krait

दुनिया का सबसे बड़ा और लम्बा साँप

ग्रीन एनाकोंडा

दक्षिण अमेरिका में पाये जाने दुनिया का सबसे बड़ा साँप है.इस साँप की लम्बाई 20 से 30 फीट तक हो सकता है.और वजन में 227 किलो तक हो सकता है.लेकिन ये जहरीला नही होता है.ये हमेशा पानी या दलदल वाली जगह को अपना निवास स्थान बनाता है.ग्रीन एनाकोंडा अपने से बड़े जानवर को निगल सकता है.इसकी जिंदा रहने की आयु 10 से 30 तक की है.

बर्मी अजगर

दुनिया के दुसरे सबसे बड़े सांपो में से एक है.जो दक्षिण पूर्व एशिया में निवास करते है.ये साँप भी जहरीला नही होता है.इसकी लम्बाई 16 फीट से लेकर 23 फीट तक हो सकता है.जिसका वजन 180 किलो तक होता है.बर्मी अजगर भी दलदल वाले जगह को पसन्द करते है. लेकिन ये साँप पानी सिर्फ 30 मिनट तक ही रह सकता है. इसलिए ये पेड़ो और ज़मीन पर ही अपना निवास स्थान बनाते है.

जालीदार अजगर

दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा साँप है.जो दक्षिण पूर्व एशिया में अधिक दिखाई देता है.जिसकी लम्बाई 4फिट से लेकर 22 फीट तक हो सकता है.और इसका वजन 150 किलो तक होता है.जालीदार अजगर वर्षा वनों , जंगल और हरियाली जैसे जगह पर निवास करता है.

अफ्रीकी रोक अजगर

अफ्रीका का सबसे बड़ा सांपो में से एक जिसे 6 पोजीशन पर रखा गया है.जिसकी लम्बाई 20 फीट और वजन करीब 113 किलो होता है.ये अजगर जंगल , चट्टान ,हरियाली मैदान ,रेतीला स्थान जैसे जगहों पर निवास करता है.

भारतीय अजगर

भारत के उपमहादीप में पाये जाने वाले अजगर बर्मी अजगर से थोडा हल्के रंग होते है.इसकी लम्बाई 12 फीट तक हो सकती है और वज़न लगभग 50 से 60 किलो तक हो सकता है.ये मुख्यता असाम के पहाड़ी,दक्कन के पठार ,और पूर्वी घाट जैसे जगह पर देखने को मिलता है.ये जहरीला नही होता है.फिर भी काटने से बहुत नुकसान कर सकता है.भारतीय अजगर लोमड़ी ,खरगोश ,पंछी आदि को अपना भोजन बनता है.

अधिक जानने के लिए यहाँ क्लिक करे 

%d bloggers like this: