जमशेदपुर स्टील प्लांट

,जमशेदपुर स्टील प्लांट

  • जमशेदपुर को झारखण्ड राज्य का औधोगिक शाहर भी कहा जाता है. जो की झारखण्ड राज्य के दक्षिणी क्षोर मे स्थित है. इस जमशेदपुर शाहर को लौह अयस्क नगरी या फिर टाटानगर के नाम से जाना जाता है.इस शाहर का स्थापना एक पारसी व्यवसाय जमशेद जी टाटा ने किया था. इस जगह पहले एक आदिवासी नमक साकची गाँव हुआ करता था. जो बादमे इसे 1918 ई. मे बदल कर जमशेदपुर रख दिया गया था. जो वायसराय लार्ड चेम्सफोर्ड ने नाम बदल कर रखा था. टाटा स्टील को बसाने मे सबसे ज्यादा योगदान सरदौराजी टाटा का रहा जो इन शाहरों को एक औधोगिक जगत मे प्रसिद्ध किया. यह जमशेदपर शाहर पर्वी सिंहभूम जिला के अंतर्गत आता है.जमशेदपुर शहर भारत के सबसे ज्यादा प्रगतिशील औधोगिक नगरों मे से एक है. यहाँ की कल आबादी लगभग 25.42 लाख है और इनका क्षेत्रफल लगभग 86 sq मील है.जमशेदपुर  स्वर्ण रेखा एवं खरकई नदी के किनारे मे बसा है.जो यंहा के शहरवासी के लिए जल का मुख्य स्रोत मना जाता है.
  •  पूर्वी सिंहभूम जिला कब बना
    पूर्वी  सिंहभूम जिला, झारखण्ड के दक्षिण-पूर्व हिस्से मे स्थित है. जो पूर्वी सिंघभूम जिला को बिहार राज्य के समय 16 जनवरी 1990 को  बनाया गया था. इसका मुख्य उद्देश्य उधोग तथा खनन को बढ़ावा देना था.पूर्वी सिंघभूम (जमशेदपुर ) मे कृषि :-पूर्वी सिंघभूम मे कृषि के लिए सबसे पहले जमीन को उपजाऊ मिट्टी के रूप मे तैयार किया जाता है. इस जिले मे ज़्यदातार धान गेंहू तथा मक्का की खेती अधिक मात्रा मे की जाती है. इस जिला को धान का कटोरा भी कहा जाता है इसके चारों ओर घने जंगलो तथा पहाड़ों से घिरा हआ है.यह पूर्वी सिंघभूम झारखण्ड राज्य के साउथ ईस्ट कोना मे है.

          ये भी पढ़े  महानगर क्या है 

   जमशेदपुर क्यों प्रसिद्ध है (jamsedpur keyo prasid hai)

  • जमशेदपुर शाहर को लौह इस्पात कारखाना भी कहा जाता है यह जमशेदपुर शाहर स्टील आयरन के लिए बहत ही चर्चित जगह है. इसलिए इस सिटी को टाटानागर या स्टील सिटी भी कहा जाता है. जमशेदपुर मे स्टील का उत्पादन सबसे अधिक मात्रा मे झारखण्ड राज्य मे होता है. इसलिए जमशेदपुर के आदित्यापूर औधोगिक के लिए बहुत ही प्रसिद्ध है.

   पूर्वी सिंघभूम जिले मे कितने प्रखंड है

यह पर्वी सिंघभूम जिला मे कुल 11 प्रखंड है.ये 11  प्रखंड इस प्रकार से है

  •  गोलमरी
  • पटमदा
  • पोटका
  • डुमरिया
  • मुसाबनी
  • घाटशीला
  • गुरबंदा
  • धालभूमगढ़
  • चाकलिया
  • बोराम
  • बहरागोड़ा

        youtube में हमें follow करे 

  जमशेदपुर (पूर्वी सिंगभूम ) मे स्वास्थ सेवा

  • मनृष्य को स्वास्थ्य होने के लिए हॉस्पिटल की कितनी जरुरत होता है. आज हमलोग जानते है की हमारे देश का हालत कोरोना से किस तरह से गजराना गुजराना पड़ता है. जिस कारण से अभी हॉस्पिटल में भारी तादाद मे लोग या मरीज मौजुद रहते है. इसी तरह से पर्वी सिंघभूम जमशेदपर मे कई तरह के हॉस्पिटल उपलब्ध है. इनमें से कुछ सरकारी है. ओर कछ गैरसरकारी हॉस्पिटल भी है. सदर अस्पताल, सिविल सर्जन कार्यालय,MGM मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल जमशेदपुर, TATA MAIN HOSPITAL इत्यादि स्वास्थ विभाग उपलब्ध है.ताकि जमशेदपर तथा झारखण्ड वासियो को इलाज के लिए स॒विधा हो!

  पूर्वी सिंघभूम (जमशेदपुर ) मै पर्यटन स्थल

  • जमशेदपुर शाहर झारखण्ड का सबसे बड़ा तथा सबसे प्रसिद्ध स्थल मे से एक है. जो यह जमशेदपुर शाहर झारखण्ड राज्य का सबसे घनी आबादी वाला शहर है. और इस शहर को स्टील सिटी या टाटानगर के लोकप्रिय के नाम से जाना जाता है. इतना ही नहीं जमशेदपुर भी पर्यटन स्थल के माध्यम से बहत ही खूबसरत तथा प्रसिद्ध जगह मे से है। इस जगह पर घुमने के बाद आपको एक अलग ही आनंद मिलेगा! जमशेदपुर  मे घुमने का प्रमुख पर्यटन स्थल है

  डिमना लेक

  • डिमना लेक जमशेदपुर शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है यह डिमना लेक जमशेदपुर से महज 13  किलोमीटर की दुरी मे स्थित है डिमना लेक दलमा पहाड़ तथा वन्यजीव अभ्यारण के बहुत ही करीब मे स्थित है. यह झील का पानी और प्राकतिक रूप के साथ पिकनिक स्पॉट के लिए बहत ही चर्चित जगह है. जमशेदपुर शहर को पानी की कमी कभी महसूस ना हो इसलिए इस डिमना लेक को बनाया गया है!

  जुबली पार्क

  • जुबली पार्क स्टील सिटी जमशेदपुर  मे स्थित है. यह जुबली पार्क लोगो के लिए एक गंतव्य है.जो एक आउटडोर पिकनिक की इच्छा को कायम करता है.जिसमें एक झील, मनोरंजन पार्क, मनोरंजन केन्द्र, और एक चिडयाघर भी है. इस पार्क मे सभी उम्र के केटेगरी के लोगो लिए ALLOW है. जुबली पार्क मे टाटा की एक प्रतिमा को भी दर्शाता है. इस पार्क को जमशेदपुर के मुगल गार्डन के रूप मे भी जाना जाता है!

  प्राचीन भुवनेश्वरी मंदिर

  • भूवनेश्वरी मंदिर जमशेदपुर  मे खारंगाजार मार्केट के पास 500 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है! इसे TELCO टेल्को भवनेश्वरी मंदिर के नाम से भी जाना जाता है. इस मंदिर मे भुनेश्वरी मंदिर से परिवर्तित कर शिव मंदिर,कष्णा मंदिर मे स्थापित किया गया. इन देवताओं के सहित कई देवताओं की मूर्ति भी स्थापित किया गया है.

  गोलपहाड़ी मंदिर

  • गोलपहाड़ी मंदिर जमशेदपुर शहर के आउटडोर मे स्थित है. यह गोलपहाड़ी मंदिर एक पहाड़ की चोटी मे स्थित है.इस पहाड़ को देवी-देवताओं के लिए समर्पित किया गया है. यह गोलपहाड़ी मंदिर से नीचे की और देखने से अदभुत नजारा ही दिखाई देता है!

  पूर्वी सिंघभूम (जमशेदपुर ) मे शिक्षण संस्थान

  • शिक्षा हमारे दैनिक जीवन मे कितना महत्वपर्ण हिस्सा है.शिक्षा हमारे जीवन का एक रीड की हड़डी की तरह है, जो मनृष्य को आगे बढ़ने और जीने की राह को दिखाता है. इसी तरह से पूर्वी सिंघभूम जमशेदपुर मे कई तरह के प्रमुख शिक्षण संस्थान एवं शोध संस्थान भी है!
  1. लाल बहादुर कॉलेज
  2. राष्ट्रीय धात॒कर्म प्रयोग
  3. राष्ट्रीय प्रोधोगिकी संस्थान
  4. जमशेदपर महिला कॉलेज
  5. लोयला सकल सोनारी
  6. राजेंद्र विधालय जमशेदपर
  7. विवेक विधालय गोविंदपुर

  पूर्वी सिंघभूम (जमशेदपुर ) मे स्टेडियम

  • दैनिक जीवन मे खेल भी एक बहुत महत्वपर्ण हिस्सा है जो की हमारे शरीर के स्वास्थ केलिए लाभदायक है! कीनन स्टेडियम एक अंतराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम है. जो जमशेदपुर  के उत्तरी शहर मे स्थित है. इस स्टेडियम का निर्माण 1939 ई  मे किया गया था, जो कई सालों के बाद इसमें अंतराष्ट्रीय और राष्ट्रीय क्रिकेट मैचों की मेजबानी किया गया. इस कीनन स्टेडियम मे फुटबॉल और तिरंदाजी का भी सुविधाएं उपलब्ध है इसके साथ -साथ कई बॉलीवड फिल्मो मे भी इस स्टेडियम का फोटो भी शूट किया गया है. जैसे :- m.s dhoni untold story

  जेआरडी टाटा स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स

  • यह जेआरडी टाटा कॉम्प्लेक्स जमशेदपर के नॉर्थन टाउन मे स्थित है. इस कॉम्प्लेक्स मे लगभग 23000-24000 दर्शकों की क्षमता वाला शहर का सबसे बड़ा खेल परिसर है. इन दिनों इस कॉम्प्लेक्स का उपयोग फुटबॉल और एथलेटिक्स के लिए किया जाता है. इसमें जेआरडी टाटा कॉम्प्लेक्स मे तिरंदाजी, हैंडबॉल, मुक्केबाजी, मार्शल  आर्ट, निशानेबाजी, शातरंज आदि तरह के खेल की सुविधाएं उपलब्ध है!