घाटशिला (Ghatsila) घाटशिला कहा है

घाटशिला (Ghatsila) घाटशिला कहा है

  • Reading time:1 mins read

आइये हमलोग घाटशीला शहर के बारे मे चर्चा करँगे! घाटशीला एक ब्लॉक है जिसका स्थापना 4 मई 1962 को किया गया था! लेकिन इसका अधिकांश भाग पश्चिम बंगाल के सीमा से सटा हुआ है! यह शहर एक वर्तनी इलाका है, जो पूर्वी सिंघभूम जिला के अंतर्गत आता है! घाटशीला झारखण्ड के औधोगिक राजधनी जमशेदपुर से महज 45 किलोमीटर की दुरी मे स्तिथ है! यह शहर स्वर्ण रेखा नदी के किनारे मे बसा है! और इनके चारों तरफ घने जंगलों से घिरा हुआ है!इसका हेडक्वार्टर ठालभम मे स्तिथ है! घाटशीला मे प्राकृतिक सम्पदा खनिज़ तथा झरने का म॒स्तरों देखने को मिलता है! घाटशीला का जनसंख्या की बात किया जाये तो 2011 के जनगणना अनुसार कल जनसंख्या 219186 है, जिसमें से शहरी क्षेत्र का आबादी 129905 है! और ग्रामीण क्षेत्र का आबादी 89281 है! जिसमें पुरुष का साक्षरता दर 53% है, और महिलाएं का 47% है

रांची के बारे में जानने के लिए क्लिक करे

घाटशीला क्‍यों प्रसिद्ध (Ghatsila keyo prasidh hai )

घाटशीला शहर जमशेदपर के नजदीक एक छोटा-सा शहर है, जो पुरे भारत मे यूरिनियम, तांबा और कॉपर जैसे खनिज़ सम्पदा पाये जाते है! और इसी से पुरे भारत देश मे खनिज़ सम्पदा जरुरत के हिसाब से पूरा करता है! और भारतीय यूरिनियम निगम खनन और परमाणु ऊर्जा विभाग भारत सरकार के अधीन मे है! यरिनियम कंपनी का स्थापना 1967 मे हुआ था! जिसका मुख्य उदेश्य यरिनियम अयस्क खनिज़ को शुद्ध करना था! इस भारतीय यरिनियम निगम का मुख्यालय पर्वी सिंगभूम मे है! ये कंपनी यूरिनियम संवर्धन उत्पाद करता है

youtube

घाटशीला शहर का भाषा (Ghatsila sahar ke bhasa)

घाटशीला शहर मे बहत सारे भाषा है जो अपने-अपने जनजातीय के हिसाब से अपना भाषा का प्रयोग किया जाता

है! जैसे :- संथाली, करमाली, बंगाली, हो,और हिंदी है! ऐसे तो मुख्य रूप से हिंदी भाषा का अधिकांश बोल चाल मे प्रयोग किया जाता है

घाटशीला मे शिक्षण संस्थान(ghatsila college) घाटशिला कॉलेज

ऐसे तो जहाँ पढ़ाई – लिखाई की बात होती है, तो स्कूल और कॉलेज का नाम भी आता है! इसी तरह से घाटशीला मे बहुत सारे स्कूल तथा कॉलेज है जो य॒वा पीढ़ी को शिक्षा देने का काम करती है! इसलिए घाटशीला शहर का औसत साक्षारता दर 73% है!

घाटशीला के स्कूल नाम इस प्रकार से है :-

1. ज्ञानदीप पब्लिक सकल

2 केंद्रीय विधालय सरदा,घाटशीला

3. सरस्वती शिशु विदया मंदिर

4. संत पॉल हाई सकल

5. संत नन्दलाल स्मति विधामंदिर

6. घाटशीला विमेंस कॉलेज कशिदा

7. घाटशीला कॉलेज घाटशीला

घाटशीला मे पर्यटन स्थल (Ghatsila me prayatan jagah)

पुलडूंगरी हिल्स :- (Puldungri hills)

फूलडूंगरी हिल्स घाटशीला से महज 5 किलोमीटर की दूरी मे है! लेकिन प्राकृतिक का आनन्द बहुत ही तारोंताज़ा होता है!जो इंसान को अपनी तरफ आकर्षित करता है,और प्राकृतिक पहाड़िया चारों तरफ हरियाली ही नज़र आता है! फूलडंगरी हिल्स मे लोग वंहा पर साल मे एक बार जरूर कोई पिकनिक मनाने आता है! तभी तो इस जगह को “आउट ऑफ द वर्ल्ड एक्सेपेरिन्स कहाँ जाता है!

बुरुडीह झील :- (burudih jhills)

ब॒रुडीह झील एक पिकनिक सपोर्ट के तौर पर बहुत चर्चित जगह है! घाटशीला शहर से बुरुडीह झील तक आने मे कई आदिवासी गांव से होकर गृजरना पड़ता है! तब जाकर बुरुडीह झील का दर्शन होता है! ये घाटशीला से महज 8 किलोमीटर की दुरी मे है! जैसे ही बुरुडीह झील पहुंचने के बाद वंहा पर कई तरह के झील तथा पहाड़ देखने को मिलता है, और फोटोग्राफी के लिए बहुत ही शानदार जगह है!

धारागिरी वाटरफाल्स :- (Dharagiri water falls)

धारागिरी वाटरफाल्स को एक जल स्रोत मना जाता है जो की ये वाटरफाल्स 25 फीट की ऊंचाई से झरने के रूप मे पानी गिरती है! इस 25 फीट से पानी जब गिरता है तो बहुत ही सुन्दर चित्र का नज़र देखने को मिलता है, इसे देखकर इंसान आकर्षित हो जाता है!

बिन्दा मेला :- (Binda mela)

बिन्दा मेला यह मेला घाटशीला के लोगो का एक स्थानीय मेला है, जो कि अक्टबर-नवंबर माह मे मनाया जाता है!इस का श॒रुवात शासको ने की थी! जो अब वहाँ के स्थानीय जनजातीय के सम॒दाय के लोग आयोजन करता है!अब तक परम्परागात तरीके से बिन्दा मेला का आयोजन करते आ रहा है!

घाटशीला मे त्यौहार :-(Ghatsila me festival)

घाटशीला मे लोग विभिन्‍न-विभिन्‍न तरीके के त्यौहार प्रत्येक साल मनाते है! ये त्यौहार ऐसा चीज है, जो लोगो कोआकर्षित करती है! जहाँ पर हर अलग- अलग जनजाति के लोग अपने-अपने रीति रीवाज के अनुसार मनाते है!घाटशीला में कई तरह के त्यौहार है, जो इस प्रकार से है

1.सागुन सोहराई

2.दुर्गा पूजा

3.बहा बोंगा

4.दीपावली

5.सरस्वती पूजा

6.मकर पोरोब

घाटशीला मे स्पोर्ट्स :-(Ghatsila me sports)

खेल एक ऐसा चीज है जो शारीर को स्वास्थ रखता है! चाहे क्रिकेट खेल हो, फुटबॉल खेल हो, कब्बड़ी खेल ही, या फिर बॉलीबाल खेल हो, शरीर को स्वास्थ रखने मे बहत मददगार मिलता है! घाटशीला मे ग्राउंड के बारे मे बात किया जाय तो बहुत सारे ऐसा ग्राउंड है जो इस तरह से है :-

गोल्फ ग्राउंड माउभंडार

गांधी मैदान हरिजनबस्ती

हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड ग्राउंड माउभंडार

सर्कस मैदान

माउभंडार सपोर्ट क्लब जो प्रत्येक साल दिसंबर महीने मे क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन किया जाता है! ये क्रिकेट टूर्नामेंट स्वर्गीय बासुकी सिंह के नाम को यादगार पल को रखने के लिए रखा जाता है! बासुकी सिंह क्रिकेट टूर्नामेंट पूरे घाटशीला मे बहुत प्रसिद्ध है!